☰
Search
हि
Sign InSign In साइन इनAndroid Play StoreIOS App StoreSetting
Clock
दीवाली पूजा कैलेण्डर📈📉 शेयर बाजार व्यापार विमर्श📈📉 वस्तु बाजार मासिक रुझान
Mesha Rashifal
मेष
Vrishabha Rashifal
वृषभ
Mithuna Rashifal
मिथुन
Karka Rashifal
कर्क
Simha Rashifal
सिंह
Kanya Rashifal
कन्या
Tula Rashifal
तुला
Vrishchika Rashifal
वृश्चिक
Dhanu Rashifal
धनु
Makara Rashifal
मकर
Kumbha Rashifal
कुम्भ
Meena Rashifal
मीन

Deepak2019 देव दीवाली | त्रिपुरोत्सव दिन और समय वाराणसी, उत्तर प्रदेश, भारत के लिएDeepak

लिगेसी डिजाईन में स्विच करें
2019 देव दीपावली
📅वर्ष चुनेंhttps://www.drikpanchang.com/placeholderClose
iOS Shubh Diwali AppAndroid Shubh Diwali App
दीवाली पूजा मुहूर्त, पूजा विधि, आरती, चालीसा आदि के लिए शुभ दीवाली ऐप इनस्टॉल करें
वाराणसी, इण्डिया
देव दीपावली
12वाँ
नवम्बर 2019
Tuesday / मंगलवार
देव दीपावली पर दीपदान
Dev Diwali
देव दीपावली मुहूर्त

देव दीपावली मुहूर्त

देव दीपावली मंगलवार, नवम्बर 12, 2019 को
प्रदोषकाल देव दीपावली मुहूर्त - 05:11 पी एम से 07:48 पी एम
अवधि - 02 घण्टे 36 मिनट्स
पूर्णिमा तिथि प्रारम्भ - नवम्बर 11, 2019 को 06:02 पी एम बजे
पूर्णिमा तिथि समाप्त - नवम्बर 12, 2019 को 07:04 पी एम बजे

टिप्पणी: सभी समय १२-घण्टा प्रारूप में वाराणसी, इण्डिया के स्थानीय समय और डी.एस.टी समायोजित (यदि मान्य है) के साथ दर्शाये गए हैं।
आधी रात के बाद के समय जो आगामि दिन के समय को दर्शाते हैं, आगामि दिन से प्रत्यय कर दर्शाये गए हैं। पञ्चाङ्ग में दिन सूर्योदय से शुरू होता है और पूर्व दिन सूर्योदय के साथ ही समाप्त हो जाता है।

2019 देव दीवाली

Dev Deepawali is a famous Utsav celebrated every year at the holy city Varanasi. Dev Deepawali, which is also spelt as Dev Diwali, is celebrated to mark the victory of Lord Shiva over demon Tripurasur (त्रिपुरासुर). Hence Dev Deepawali Utsav is also known as Tripurotsav or Tripurari Purnima which is observed on the auspicious day of Kartik Purnima.

On Dev Deepawali, devotees take a holy dip in the Ganges on the auspicious day of Kartik Purnima and light earthen lamps or Diya(s) in the evening. When the dusk sets, the steps of all the Ghats on the riverfront of the Ganges are lit with millions of earthen lamps. Not only the Ghats of Ganges but also all temples of Benares are lit with millions of Diya(s).

Kalash
कॉपीराइट नोटिस
PanditJi Logo
सभी छवियाँ और डेटा - कॉपीराइट
Ⓒ www.drikpanchang.com
प्राइवेसी पॉलिसी
Android Play StoreIOS App Store
Drikpanchang Donation