☰
Search
Mic
हि
Android Play StoreIOS App Store
Setting
Clock

2022 अक्षय तृतीया का दिन Fairfield, Connecticut, संयुक्त राज्य अमेरिका के लिये

DeepakDeepak

2022 अक्षय तृतीया

Fairfield, संयुक्त राज्य अमेरिका
अक्षय तृतीया
3वाँ
मई 2022
Tuesday / मंगलवार
अक्षय तृतीया पर लक्ष्मीनारायण के रूप में भगवान विष्णु की पूजा
Akshaya Tritiya Puja

अक्षय तृतीया मुहूर्त

अक्षय तृतीया मंगलवार, मई 3, 2022 को
अक्षय तृतीया पूजा मुहूर्त - 05:48 ए एम से 12:50 पी एम
अवधि - 07 घण्टे 02 मिनट्स
तृतीया तिथि प्रारम्भ - मई 02, 2022 को 07:48 पी एम बजे
तृतीया तिथि समाप्त - मई 03, 2022 को 10:02 पी एम बजे

अक्षय तृतीया पर सोना खरीदने का शुभ मुहूर्त

अक्षय तृतीया सोने की खरीदारी सोमवार, मई 2, 2022 को
अक्षय तृतीया पर सोना खरीदने का समय - 07:48 पी एम से 05:48 ए एम, मई 03
अवधि - 10 घण्टे 00 मिनट्स
अक्षय तृतीया के साथ व्याप्त शुभ चौघड़िया मुहूर्त
अपराह्न मुहूर्त (चर, लाभ, अमृत) - 07:48 पी एम से 07:51 पी एम
सायाह्न मुहूर्त (चर) - 07:51 पी एम से 09:06 पी एम
रात्रि मुहूर्त (लाभ) - 11:35 पी एम से 12:50 ए एम, मई 03
उषाकाल मुहूर्त (शुभ, अमृत, चर) - 02:04 ए एम से 05:48 ए एम, मई 03

अक्षय तृतीया पर सोना खरीदने का शुभ मुहूर्त

अक्षय तृतीया सोने की खरीदारी मंगलवार, मई 3, 2022 को
अक्षय तृतीया पर सोना खरीदने का समय - 05:48 ए एम से 10:02 पी एम
अवधि - 16 घण्टे 14 मिनट्स
अक्षय तृतीया के साथ व्याप्त शुभ चौघड़िया मुहूर्त
प्रातः मुहूर्त (चर, लाभ, अमृत) - 09:19 ए एम से 02:36 पी एम
अपराह्न मुहूर्त (शुभ) - 04:21 पी एम से 06:07 पी एम
सायाह्न मुहूर्त (लाभ) - 09:07 पी एम से 10:02 पी एम

अन्य वर्षों में अक्षय तृतीया का दिन

2019 - मंगलवार, 7 मई
2020 - शनिवार, 25 अप्रैल
2021 - शुक्रवार, 14 मई
2022 - मंगलवार, 3 मई
2023 - शनिवार, 22 अप्रैल
2024 - शुक्रवार, 10 मई
2025 - मंगलवार, 29 अप्रैल
2026 - रविवार, 19 अप्रैल
2027 - शनिवार, 8 मई
2028 - बृहस्पतिवार, 27 अप्रैल
2029 - बुधवार, 16 मई

* अक्षय तृतीया के दिनों की गणना Fairfield, संयुक्त राज्य अमेरिका के लिये की गयी है।

टिप्पणी: सभी समय १२-घण्टा प्रारूप में Fairfield, संयुक्त राज्य अमेरिका के स्थानीय समय और डी.एस.टी समायोजित (यदि मान्य है) के साथ दर्शाये गए हैं।
आधी रात के बाद के समय जो आगामि दिन के समय को दर्शाते हैं, आगामि दिन से प्रत्यय कर दर्शाये गए हैं। पञ्चाङ्ग में दिन सूर्योदय से शुरू होता है और पूर्व दिन सूर्योदय के साथ ही समाप्त हो जाता है।

2022 अक्षय तृतीया

हिन्दु धर्मावलम्बियों के लिये अक्षय तृतीया का पर्व अत्यधिक शुभ एवं पवित्र दिन होता है। अक्षय तृतीया को आखा तीज के नाम से भी जाना जाता है। यह वैशाख माह में शुक्ल पक्ष तृतीया के दिन आता है। बुधवार के साथ रोहिणी नक्षत्र वाले दिन पड़ने वाली अक्षय तृतीया को अत्यधिक शुभ माना जाता है। अक्षय शब्द का अर्थ कभी कम न होने वाला होता है। इसीलिये इस दिन कोई भी जप, यज्ञ, पितृ-तर्पण, दान-पुण्य करने का लाभ कभी कम नहीं होता तथा व्यक्ति को सदैव प्राप्त होता रहता है।

मान्यताओं के अनुसार, अक्षय तृतीया सौभाग्य एवं सफलता प्रदान करती है। अधिकांश व्यक्ति इस दिन स्वर्ण आदि क्रय करते हैं, क्योंकि मान्यता है कि अक्षय तृतीया पर स्वर्ण क्रय करने से आने वाले भविष्य में अत्यधिक धन-समृद्धि प्राप्त होती है। अक्षय दवस होने के कारण माना जाता है कि इस दिन क्रय किये गये स्वर्ण का कभी क्षरण नहीं होगा तथा उसमे सदैव वृद्धि ही होती रहेगी।

अक्षय तृतीया का दिन भगवान विष्णु द्वारा शासित होता है। भगवान विष्णु हिन्दु त्रिमूर्ति में से एक हैं तथा सृष्टि के संरक्षक भगवान हैं। हिन्दु पौराणिक कथाओं के अनुसार, त्रेता युग का आरम्भ अक्षय तृतीया के दिन हुआ था। सामान्यतः अक्षय तृतीया एवं भगवान विष्णु के छठवें अवतार की जयन्ती एक ही दिन पड़ती है, जिसे परशुराम जयन्ती के नाम से जाना जाता है। किन्तु तृतीया तिथि के आराम्भिक समय के आधार पर, परशुराम जयन्ती अक्षय तृतीया से एक दिन पूर्व पड़ सकती है।

वैदिक ज्योतिषी भी अक्षय तृतीया को सभी अशुभ प्रभावों से मुक्त एक शुभ दिन मानते हैं। हिन्दु चुनावी ज्योतिष के अनुसार तीन चन्द्र दिवस, युगादि, अक्षय तृतीया तथा विजय दशमी को किसी भी शुभ कार्य को आरम्भ करने अथवा सम्पन्न करने हेतु किसी प्रकार के मुहूर्त की आवश्यकता नहीं होती है, क्योंकि ये तीन दिन सभी अशुभ प्रभावों से मुक्त होते हैं।

Kalash
कॉपीराइट नोटिस
PanditJi Logo
सभी छवियाँ और डेटा - कॉपीराइट
Ⓒ www.drikpanchang.com
प्राइवेसी पॉलिसी
द्रिक पञ्चाङ्ग और पण्डितजी लोगो drikpanchang.com के पञ्जीकृत ट्रेडमार्क हैं।
Android Play StoreIOS App Store
Drikpanchang Donation