☰
Search
हि
Sign InSign In साइन इनAndroid Play StoreIOS App StoreSetting
Clock
#घर_पर_रहें_सुरक्षित_रहें
चैत्र राम नवरात्रि📈📉 शेयर बाजार व्यापार विमर्श📈📉 वस्तु बाजार मासिक रुझान
Mesha Rashifal
मेष
Vrishabha Rashifal
वृषभ
Mithuna Rashifal
मिथुन
Karka Rashifal
कर्क
Simha Rashifal
सिंह
Kanya Rashifal
कन्या
Tula Rashifal
तुला
Vrishchika Rashifal
वृश्चिक
Dhanu Rashifal
धनु
Makara Rashifal
मकर
Kumbha Rashifal
कुम्भ
Meena Rashifal
मीन

Deepak1744 होली भाई दूज | होली भ्रातृ द्वितीया का दिन नई दिल्ली, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, भारत के लिएDeepak

लिगेसी डिजाईन में स्विच करें
1744 होली भाई दूज
📅वर्ष चुनेंhttps://www.drikpanchang.com/placeholderClose
नई दिल्ली, भारत
होली भाई दूज
29वाँ
फरवरी 1744
Saturday / शनिवार
होली पर्व के बाद भाई टीका
Bhaiya Dooj
होली भाई दूज का समय

होली भाई दूज का समय

होली भाई दूज शनिवार, फरवरी 29, 1744 को
द्वितीया तिथि प्रारम्भ - फरवरी 29, 1744 को 01:01 ए एम बजे
द्वितीया तिथि समाप्त - फरवरी 29, 1744 को 10:36 पी एम बजे

टिप्पणी: सभी समय १२-घण्टा प्रारूप में नई दिल्ली, भारत के स्थानीय समय और डी.एस.टी समायोजित (यदि मान्य है) के साथ दर्शाये गए हैं।
आधी रात के बाद के समय जो आगामि दिन के समय को दर्शाते हैं, आगामि दिन से प्रत्यय कर दर्शाये गए हैं। पञ्चाङ्ग में दिन सूर्योदय से शुरू होता है और पूर्व दिन सूर्योदय के साथ ही समाप्त हो जाता है।

होली भाई दूज 1744

महत्वपूर्ण हिन्दु त्यौहारों में से एक त्यौहार भाई दूज है। यह त्यौहार भाई-बहनों के बीच स्नेह बन्धन को सुदृढ़ करता है। हिन्दु कैलेण्डर के अनुसार, भाई दूज द्वितीया तिथि पर मनाया जाता है।

भाई दूज को भ्रातृ द्वितीया के नाम से भी जाना जाता है। हिन्दु कैलेण्डर में दो भाई दूज आती हैं। दूसरा पर्व, दीपावली पूजन के दो दिन पश्चात् मनाया जाता है, जो अधिक लोकप्रिय है तथा इसे भी भाई दूज के नाम से जाना जाता है।

हालाँकि, कुछ क्षेत्रों में होली भाई दूज काफी लोकप्रिय है, किन्तु यह त्यौहार अत्यधिक प्रसिद्ध नहीं है। हिन्दु त्यौहारों पर प्रसिद्ध ग्रन्थों जैसे धर्म-सिन्धु, निर्णय-सिन्धु तथा व्रतराज में भी होली भाई दूज का उल्लेख नहीं मिलता है। द्वितीया तिथि पर ही होली भाई दूज मनाया जाना चाहिये। इसलिये होलिका दहन के दिन के आधार पर, यह त्यौहार रँगवाली होली के अगले दिन या दूसरे दिन पर आ सकता है।

Kalash
कॉपीराइट नोटिस
PanditJi Logo
सभी छवियाँ और डेटा - कॉपीराइट
Ⓒ www.drikpanchang.com
प्राइवेसी पॉलिसी
द्रिक पञ्चाङ्ग और पण्डितजी लोगो drikpanchang.com के पञ्जीकृत ट्रेडमार्क हैं।
Android Play StoreIOS App Store
Drikpanchang Donation