☰
Search
Mic
हि
Sign InSign In साइन इनAndroid Play StoreIOS App StoreSetting
Clock
Mesha Rashifal
मेष
Vrishabha Rashifal
वृषभ
Mithuna Rashifal
मिथुन
Karka Rashifal
कर्क
Simha Rashifal
सिंह
Kanya Rashifal
कन्या
Tula Rashifal
तुला
Vrishchika Rashifal
वृश्चिक
Dhanu Rashifal
धनु
Makara Rashifal
मकर
Kumbha Rashifal
कुम्भ
Meena Rashifal
मीन

2170 शीतला अष्टमी पूजा, बासोड़ा का दिन नई दिल्ली, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, भारत के लिए

DeepakDeepak
लिगेसी डिजाईन में स्विच करें
2170 शीतला अष्टमी पूजा, बासोड़ा का दिन
📅वर्ष चुनेंhttps://www.drikpanchang.com/placeholderClose
नई दिल्ली, भारत
शीतला अष्टमी
9वाँ
मार्च 2170
Friday / शुक्रवार
देवी शीतला
Goddess Sheetala
शीतला अष्टमी पूजा समय

शीतला अष्टमी पूजा समय

शीतला अष्टमी शुक्रवार, मार्च 9, 2170 को
शीतला अष्टमी पूजा मुहूर्त - 08:22 ए एम से 06:26 पी एम
अवधि - 10 घण्टे 04 मिनट्स
शीतला सप्तमी बृहस्पतिवार, मार्च 8, 2170 को
अष्टमी तिथि प्रारम्भ - मार्च 09, 2170 को 08:22 ए एम बजे
अष्टमी तिथि समाप्त - मार्च 10, 2170 को 08:29 ए एम बजे

टिप्पणी: सभी समय १२-घण्टा प्रारूप में नई दिल्ली, भारत के स्थानीय समय और डी.एस.टी समायोजित (यदि मान्य है) के साथ दर्शाये गए हैं।
आधी रात के बाद के समय जो आगामि दिन के समय को दर्शाते हैं, आगामि दिन से प्रत्यय कर दर्शाये गए हैं। पञ्चाङ्ग में दिन सूर्योदय से शुरू होता है और पूर्व दिन सूर्योदय के साथ ही समाप्त हो जाता है।

2170 शीतला अष्टमी

Basoda (बसोडा) Puja is dedicated to Goddess Sheetala and celebrated on Krishna Paksha Ashtami after Holi. Basoda is also known as Sheetala Ashtami. Usually it falls after eight days of Holi but many people observe it on first Monday or Friday after Holi. Sheetala Ashtami is more popular in North Indian states like Gujarat, Rajasthan and Uttar Pradesh.

According to Basoda customs families don't lit fire for cooking. Hence most families cook one day before and consume stale food on Sheetala Ashtami day. It is believed that Goddess Sheetala controls smallpox, chickenpox, measles, etc. and people worship her to ward off any outbreak of those diseases.

In Gujarat, the similar ritual as Basoda is observed just a day before Krishna Janmashtami and is known as Shitala Satam. Shitala Satam is also dedicated to Goddess Sheetala and no fresh food is cooked on the day of Sheetala Satam.

Kalash
कॉपीराइट नोटिस
PanditJi Logo
सभी छवियाँ और डेटा - कॉपीराइट
Ⓒ www.drikpanchang.com
प्राइवेसी पॉलिसी
द्रिक पञ्चाङ्ग और पण्डितजी लोगो drikpanchang.com के पञ्जीकृत ट्रेडमार्क हैं।
Android Play StoreIOS App Store
Drikpanchang Donation