☰
Search
Mic
Sign InSign In SIGN INAndroid Play StoreIOS App Store
Setting
Clock

32 Names of Goddess Lakshmi | Dwatrinsha Namavali of Goddess Lakshmi

DeepakDeepak

32 Lakshmi Names

Dwatrinsha Namavali of Goddess Lakshmi

भक्ताभिलाषी
Bhaktabhilashi
1
भक्तों की अभिलाषा पूरी करने वाली।
विष्णु मनोनुकूला
Vishnu Manonukula
2
विष्णु के मन के अनुकूल रहने वाली।
पद्मोरू
Padmoru
3
आसन रूप में कमल पर विराजमान रहने वाली।
सोहिवसमता
Sohivasamata
4
मन्द-मधुर मुस्कान से युक्त।
सर्वमातेश्वरी
Sarvamateshwari
5
संसार की माता।
सर्वभर्तेश्वरी
Sarvabharteshwari
6
संसार का भरण-पोषण करने वाली।
पद्माक्षी
Padmakshi
7
कमल पत्र के समान नेत्रों वाली।
पद्मिनी
Padmini
8
सौंदर्य की देवी।
पिङ्गला
Pingala
9
दीपशिखा के समान प्रज्वलित दिखने वाली।
पुष्टि
Pushti
10
सबका पोषण करने वाली।
मनोज्ञा
Manogya
11
सबकी अभिलाषा जानने वाली।
माता
Mata
12
जगत की सृष्टि करने वाली।
माधवप्रिया
Madhavapriya
13
विष्णु को प्रिय।
पुष्करिणी
Pushkarini
14
हाथ में कमल धारण करने वाली।
प्रभाषा
Prabhasha
15
दिव्य कान्ति से सम्पन्न।
महाधना
Mahadhana
16
पर्याप्त धन वाली।
भूमि
Bhumi
17
परम सत्ता प्राप्त करने वाली।
यशसा ज्वलन्ती
Yashasa Jvalanti
18
यशों से विख्यात।
आयुतवल्लभा
Ayutavallabha
19
भगवान विष्णु की प्रिया।
अनपगामिनी
Anapagamini
20
विष्णु से अलग न होने वाली।
आर्द्रा
Ardra
21
गजेन्द्र द्वारा लाई गई।
करीषिणी
Karishini
22
ऐरावत (समुद्र मन्थन से प्राप्त हाथी) पर सवारी करने वाली।
तर्पयन्ती
Tarpayanti
23
तृप्ति प्रदान करने वाली।
त्रिभुवनभुविकारी
Tribhuvanabhuvikari
24
तीनों लोकों को सम्पन्न करने वाली।
यष्टि
Yashti
25
पूजने योग्य।
उदारा
Udara
26
भक्तों का उद्धार करने वाली।
विश्वप्रिया
Vishvapriya
27
विष्णु की प्रिय पत्नी।
श्री
Shri
28
श्री महालक्ष्मी।
सरोजहस्ता
Sarojahasta
29
कमल धारण किए हुए।
हेममालिनी
Hemamalini
30
स्वर्ण मालाओं को धारण करने वाली।
विष्णुसखि
Vishnusakhi
31
भगवान विष्णु की सखी या मित्र।
हरिवल्लभा
Harivallabha
32
विष्णु की प्राणाधार।
हिरण्यवर्णा
Hiranyavarna
33
स्वर्ण के समान चमकने वाली।
लक्ष्मी
Lakshmi
34
सभी का उद्धार करने वाली।
क्षमा
Kshama
35
सब को क्षमा प्रदान करने वाली।
गोदा
Goda
36
गौ धन की दाती।
आदित्यवर्णा
Adityavarna
37
सूर्य के समान तेजोमय।
ज्वलन्ती
Jvalanti
38
दीप्तिमय।
पद्मप्रिया
Padmapriya
39
कमल को पसन्द करने वाली।
धनदा
Dhanada
40
धन-धान्य देने वाली।
देवजुष्टा
Devajushta
41
देवों द्वारा पूजित।

॥ इति श्रीलक्ष्मीद्वात्रिंशत्नामावलिः सम्पूर्णा ॥

Kalash
Copyright Notice
PanditJi Logo
All Images and data - Copyrights
Ⓒ www.drikpanchang.com
Privacy Policy
Drik Panchang and the Panditji Logo are registered trademarks of drikpanchang.com
Android Play StoreIOS App Store
Drikpanchang Donation