☰
Search
Mic
हि
Sign InSign In साइन इनAndroid Play StoreIOS App Store
Setting
Clock

1710 रोहिणी व्रत के दिन Fairfield, Connecticut, संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए

DeepakDeepak

1710 रोहिणी व्रत

Fairfield, संयुक्त राज्य अमेरिका
30
अगस्त 2021
सोमवार
1710 रोहिणी उपवास
[1766 - 1767] विक्रम सम्वत
रोहिणी व्रत
जनवरी 11, 1710, शनिवार
रोहिणी व्रत
फरवरी 8, 1710, शनिवार
रोहिणी व्रत
मार्च 7, 1710, शुक्रवार
रोहिणी व्रत
अप्रैल 4, 1710, शुक्रवार
रोहिणी व्रत
मई 1, 1710, बृहस्पतिवार
रोहिणी व्रत
मई 28, 1710, बुधवार
रोहिणी व्रत
जून 24, 1710, मंगलवार
रोहिणी व्रत
जुलाई 22, 1710, मंगलवार
रोहिणी व्रत
अगस्त 18, 1710, सोमवार
रोहिणी व्रत
सितम्बर 14, 1710, रविवार
रोहिणी व्रत
अक्टूबर 12, 1710, रविवार
रोहिणी व्रत
नवम्बर 8, 1710, शनिवार
रोहिणी व्रत
दिसम्बर 5, 1710, शुक्रवार

टिप्पणी: सभी समय १२-घण्टा प्रारूप में Fairfield, संयुक्त राज्य अमेरिका के स्थानीय समय और डी.एस.टी समायोजित (यदि मान्य है) के साथ दर्शाये गए हैं।
आधी रात के बाद के समय जो आगामि दिन के समय को दर्शाते हैं, आगामि दिन से प्रत्यय कर दर्शाये गए हैं। पञ्चाङ्ग में दिन सूर्योदय से शुरू होता है और पूर्व दिन सूर्योदय के साथ ही समाप्त हो जाता है।

1710 रोहिणी व्रत

Rohini Vrat Dates

रोहिणी व्रत जैन समुदाय का एक महत्वपूर्ण दिन है। रोहिणी व्रत का पालन मुख्य रूप से महिलाओं द्वारा अपने पति की दिर्घायु के लिए किया जाता है। नक्षत्र रोहिणी, हिन्दु एवं जैन कैलेण्डर में वर्णित, सत्ताईस नक्षत्रों में से एक है।

जिस दिन सूर्योदय के बाद रोहिणी नक्षत्र पड़ता है, उस दिन यह व्रत किया जाता है। ऐसा माना जाता है, कि जो भी रोहिणी व्रत का श्रद्धापूर्वक पालन करते हैं, वो सभी प्रकार के दुखों एवं दरिद्रता से मुक्त हो जाते हैं। इस व्रत का पारण रोहिणी नक्षत्र के समाप्त होने पर मार्गशीर्ष नक्षत्र में किया जाता है।

प्रत्येक वर्ष में बारह रोहिणी व्रत होते हैं। आमतौर पर रोहिणी व्रत का पालन तीन, पाँच या सात वर्षों तक लगातार किया जाता है। रोहिणी व्रत की उचित अवधि पाँच वर्ष, पाँच महीने है। उद्यापन के द्वारा ही इस व्रत का समापन किया जाना चाहिए।

Kalash
कॉपीराइट नोटिस
PanditJi Logo
सभी छवियाँ और डेटा - कॉपीराइट
Ⓒ www.drikpanchang.com
प्राइवेसी पॉलिसी
द्रिक पञ्चाङ्ग और पण्डितजी लोगो drikpanchang.com के पञ्जीकृत ट्रेडमार्क हैं।
Android Play StoreIOS App Store
Drikpanchang Donation