☰
Search
Mic
हि
Android Play StoreIOS App Store
Setting
Clock
Sawan Begins

1911 पितृ पक्ष के दौरान नवमी श्राद्ध तिथि Fairfield, Connecticut, संयुक्त राज्य अमेरिका के लिए

DeepakDeepak

1911 नवमी श्राद्ध

Fairfield, संयुक्त राज्य अमेरिका
नवमी श्राद्ध
16वाँ
सितम्बर 1911
Saturday / शनिवार
नवमी श्राद्ध
Shraddha

श्राद्ध अनुष्ठान समय

नवमी श्राद्ध शनिवार, सितम्बर 16, 1911 को
कुतुप मूहूर्त - 11:23 ए एम से 12:13 पी एम
अवधि - 00 घण्टे 50 मिनट्स
रौहिण मूहूर्त - 12:13 पी एम से 01:03 पी एम
अवधि - 00 घण्टे 50 मिनट्स
अपराह्न काल - 01:03 पी एम से 03:33 पी एम
अवधि - 02 घण्टे 30 मिनट्स
नवमी तिथि प्रारम्भ - सितम्बर 15, 1911 को 11:45 पी एम बजे
नवमी तिथि समाप्त - सितम्बर 16, 1911 को 09:28 पी एम बजे

टिप्पणी: सभी समय १२-घण्टा प्रारूप में Fairfield, संयुक्त राज्य अमेरिका के स्थानीय समय और डी.एस.टी समायोजित (यदि मान्य है) के साथ दर्शाये गए हैं।
आधी रात के बाद के समय जो आगामि दिन के समय को दर्शाते हैं, आगामि दिन से प्रत्यय कर दर्शाये गए हैं। पञ्चाङ्ग में दिन सूर्योदय से शुरू होता है और पूर्व दिन सूर्योदय के साथ ही समाप्त हो जाता है।

1911 नवमी श्राद्ध

नवमी श्राद्ध परिवार के उन मृतक सदस्यों के लिये किया जाता है, जिनकी मृत्यु नवमी तिथि पर हुई हो। इस दिन शुक्ल पक्ष अथवा कृष्ण पक्ष दोनों ही पक्षों की नवमी तिथि का श्राद्ध किया जा सकता है।

नवमी श्राद्ध तिथि को मातृनवमी के रूप में भी जाना जाता है। यह तिथि माता का श्राद्ध करने के लिये सबसे उपयुक्त दिन होता है। इस तिथि पर श्राद्ध करने से परिवार की सभी मृतक महिला सदस्यों की आत्मा प्रसन्न होती है।

नवमी श्राद्ध को नौमी श्राद्ध तथा अविधवा श्राद्ध के नाम से भी जाना जाता है।

पितृ पक्ष श्राद्ध पार्वण श्राद्ध होते हैं। इन श्राद्धों को सम्पन्न करने के लिए कुतुप, रौहिण आदि मुहूर्त शुभ मुहूर्त माने गये हैं। अपराह्न काल समाप्त होने तक श्राद्ध सम्बन्धी अनुष्ठान सम्पन्न कर लेने चाहिये। श्राद्ध के अन्त में तर्पण किया जाता है।

Kalash
कॉपीराइट नोटिस
PanditJi Logo
सभी छवियाँ और डेटा - कॉपीराइट
Ⓒ www.drikpanchang.com
प्राइवेसी पॉलिसी
द्रिक पञ्चाङ्ग और पण्डितजी लोगो drikpanchang.com के पञ्जीकृत ट्रेडमार्क हैं।
Android Play StoreIOS App Store
Drikpanchang Donation